CONFUCIANISM

Intro    History   Practices   Places   Personalities

Intro – Confucianism

The moral values ​​taught by Saint Confucius were five – Jane, Chun-Tsu, Li, Te, Wayne. Jane is formed by combining this Chinese letter with man and two. There are many meanings of this word – goodness, love, kindness, compassion, etc. in human beings. Chun-tsu – is the quality of the true and the superior humanity. Confucian says that if there is purity in the heart, then there will be beauty in the character. If the character will have beauty, then there will be balance in the house. If there is a balance in the house then there will be good order in the country. If there is good order in the country, there will be peace in the world.

Lee has two meanings. First meaning is justification – best practice. The second meaning is the arrangement, to accomplish a task in a formal way. Te means power. Confucian does no consider that Power is physical and physical only. Wayne means the art of peace. It means music, painting, poetry – in the entire culture Confucian gives great importance to them.

कन्फूसियन धर्म क्या है ?

संत कन्फूशियस ने जो नैतिक मूल्य सिखाए, वे पांच थे – जेन, चुन-त्सु, लि, ते, वेन। जेन यह चीनी अक्षर मनुष्य और दो के मिलाने से बनता है। इस शब्द के कई अर्थ दिए गए हैं – अच्छाई, मनुष्य-मनुष्य में प्रेम सम्बन्ध, दया, सहृदयता आदि। चुन-त्सु – सच्ची और श्रेष्ठ मनुष्यता का गुण है। कन्फूशियन कहते हैं -हृदय में पवित्रता हो, तो चरित्र में सौंदर्य होगा। चरित्र में सौंदर्य होगा, तो घर में संतुलन होगा। घर में संतुलन होगा, तो देश में सुव्यवस्था होगी। देश में सुव्यवस्था होगी ,तो संसार में शांति होगी।

ली का दो अर्थ है। पहला अर्थ है औचित्य – उत्तम व्यवहार। दूसरा अर्थ है व्यवस्था, विधि-पूर्वक किसी कार्य को संपन्न करना। ते का अर्थ है शक्ति। शक्ति – केवल शारीरिक और भौतिक होती है, यह कन्फूशियन नहीं मानता है। वेन का अर्थ है शांति की कलाएं। इसका अर्थ है संगीत, चित्रकला, कविता – समूची संस्कृति कन्फूशियन इन्हें बहुत महत्व देता है।


History of Confucianism

In 500 BC, the philosopher Confucius (from 551 to 479 BC) laid the foundation of a new moral and practical religion. His ideas were extended by his grandson Gici. Mensius and Junji have a great contribution in strengthening the Confucian idea. Many sources related to good and practical life were propagated in Confucius religion. Confucius religion has a special role in China’s mentality or the development of a Chinese character.

China’s leftist power made all possible attempts to overthrow Confucius as their class enemy and to overthrow their knowledge, symbol, place, but this opinion remains in its place even today. Confucius is worshiped with respect and love in Taiwan and Korea etc.

कन्फूशियन धर्म का इतिहास

ईसा पूर्व  500 में दार्शनिक कन्फूशियस (ईसा पूर्व 551 से 479 तक) ने एक नए नैतिक और व्यावहारिक धर्म की आधारशिला रखी। उनके विचारों को उनके पोते जीसी ने आगे बढ़ाया। कन्फूशियन विचार को पुख्ता करने में मेंसियस और जुन जी का बड़ा योगदान है। अच्छे और व्यावहारिक जीवन से जुड़े अनेक सूत्र कन्फूशियस धर्म में प्रचारित हुए। चीन की मानसिकता या चीनी चरित्र के विकास में कन्फूशियस धर्म की विशेष भूमिका रही है। चीन की वामपंथी सत्ता ने कन्फूशियस को वर्ग शत्रु घोषित करके उनके ज्ञान, प्रतीक, स्थान को उखाड़ फेंकने का हर संभव प्रयास किया, लेकिन यह मत अपनी जगह आज भी कायम है। ताईवान और कोरिया इत्यादि में कन्फूशियस को पर्याप्त सम्मान और प्रेम भाव से पूजा जाता है।


Practices in Confucianism

To pray, to follow good laws of society, to increase harmony, to honor the ancestors – worship them. Ancestors are always present, they also help us when we need them. This religion does not prohibit public behavior prevailing locally. Society inspires to walk with time. The main aim of the gurus of this religion has been goodwill, they consider it to be very important social value.

व्यवहार

प्रार्थना करना, समाज के अच्छे कानूनों की पालना करना, सद्भाव बढ़ाने के प्रयास करना, पूर्वजों को आदर देना – उनकी पूजा करना। पूर्वज सदा मौजूद रहते हैं, वे जरूरत पडऩे पर हमारी मदद भी करते हैं। यह धर्म स्थानीय स्तर पर प्रचलित लोक व्यवहार का निषेध नहीं करता। समाज और समय के साथ चलने के लिए प्रेरित करता है। इस धर्म के गुरुओं का मुख्य मकसद सद्भाव की प्राप्ति रहा है, वे इसे बहुत महत्वपूर्ण सामाजिक मूल्य मानते हैं।


PLACES /Confucius pilgrimage

Temple built at the birthplace of Confucius in Kufu in Shandong province of China This is the most special place associated with this religion. It is broken and settled several times, but its popularity has remained steady. There are many beautiful temples in Korea and Taiwan, which are visible and worshipful to the lovers of Confucius.

कन्फूशियस तीर्थ

चीन के शनडोंग प्रांत में कूफू में कन्फूशियस के जन्म स्थान पर निर्मित टेंपल। यह इस धर्म से जुड़ा सबसे विशेष स्थान है। यह कई बार टूटा और बसा है, लेकिन उसकी लोकप्रियता-पूजनीयता लगातार बनी हुई है। कोरिया और ताईवान में अनेक सुंदर मंदिर हैं, जो कन्फूशियस मत के प्रेमियों के लिए दर्शनीय और पूज्य हैं।


PERSONALITIES

 Intro    History   Practices   Places   Personalities